एक मछली ने बदली दो भाइयों की किस्मत, बना दिया लखपति

एक मछली ने बदली दो भाइयों की किस्मत, बना दिया लखपति 
दोस्तों, महाराष्ट्र के पालघर समुद्रतट पर मछली पकड़ने गए दो मछुआरे भाइयों की जिंदगी इस तरह बदल जायेगी ये इन भाइयों ने कभी सोचा भी नहीं होगा| चलिए जानते है क्या है मामला? 
हुआ यूँ दोस्तों, पालघर के मोब्रे गाँव में रहने वाले दो भाई महेश और भरत मेहर नामक ये दोनों मछुआरे भाई जब समुद्र में मछली पकड़ने गए तो इनके जाल में घोल नामक एक मछली फँस गयी जिसका वजन करीब ३० किलोग्राम था| 
जब दोनों भाई मछली बेचने के मार्किट में गए तो सबकी नज़र उस मछली पर ही केंद्रित था| दरअसल दोनों भाइयों ने जिस प्रजाति की मछली पकड़ी उस घोल प्रजाति की मछली की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में बहुत मांग है|
इस प्रजाति की मछली का उपयोग महँगी दवाइयां और सौंदर्य प्रसाधन बनाने के लिए किया जाता है| यही नहीं ऑपरेशन के दौरान इस्तेमाल होने वाले सॉल्युबल टाँके बनाने में भी यह मछली उपयोगी है| सिंगापुर, इंडोनेशिया और हांगकांग में इसकी भारी मांग है|
किसी मछली की कीमत ज्यादा से ज्यादा हजारों में होती है| मगर यह घोल मछली पूरे ५.५ लाख रुपयों में बिकी| मछुआरों के मुताबिक यह मछली बाजार में पहुंचने के २० मिनिट के अंदर ही बिक गयी| इसके पहले भी मई में भायंदर के एक मछुआरे विलियम गबरू ने उतन से एक महँगी घोल पकड़ी थी जो ५.१६ लाख रुपये में बिकी थी| 

टिप्पणियाँ