कई सालों से समुद्र में तैर रहा है यह गाँव, जमीन पर पैर नहीं रखते यहाँ के लोग

कई सालों से समुद्र में तैर रहा है यह गाँव, 
जमीन पर पैर नहीं रखते यहाँ के लोग 
दोस्तों, आपने कई ऐसे गाँवों या शहरों के बारे में सुना होगा जो अपने आप में कुछ अजीबोगरीब होते है| उनमे से सबसे अलग यह गाँव है जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है| तो चलिए जानते है इस अजीब गाँव के बारे में|
आपने कश्मीर की डल झील के बारे में तो सुना ही होगा, जहाँ पानी में बोट तैरते हुए घर होते है| मगर, चीन के इस शहर जिसे निंगडे सिटी कहते है| इसकी एक बस्ती हमेशा पानी में तैरती रहती है और कुछ सालों से नहीं बल्कि करीब १३०० सालों से पानी में तैर रही है| 
कई सौ सालों पहले टांका जाति के लोगों ने मौजूदा शासकों के अत्याचारों से दुखी होकर समुद्र के किनारे रहने लगे थे| अपने परिवार को इनके अत्याचार से बचने के लिए मछुवारों ने धीरे-धीरे अपनी नावों के साथ समुन्द्र पर ही अपना घर बनाना शुरू कर दिया था| 
जब कोई खतरें का आभास होता तो अपनी नावों को समुन्द्र में कई दूर तक ले जाते थे| चीन के दक्षिण-पूर्व इलाके के यह मछुवारे आज भी अपनी परंपरागत नावों के मकान में रहते है| हमेशा समुद्र में तैरते इन घरों में रहने वाली इस टांका जाति के लोगों को 'जिप्सीज ऑफ़ द सी' भी कहा जाता है| 
७०० ईस्वी में चीन में तांग राजवंश के शासनकाल से बसे इन गाँवों के लोगों का जीवन पानी के घरों और मछलियों के शिकार में ही बीत जाता है| ये लोग जमीन पर कदम नहीं रखते है| इसके अलावा ये जमीन पर रहने वाले लोगों से नफरत करते है और उन्हें अपने पास नहीं आने देते है| 

  

टिप्पणियाँ