यहाँ बहन बनती है दूल्हा, शादी करके घर लाती है अपनी भाभी

दोस्तों, रीति-रिवाजों से परिपूर्ण इस भारत देश में कई ऐसी परम्पराएं है जिन्हें सुनकर कभी-कभी यकीन करना भी मुश्किल हो जाता है| आज हम आपको ऐसी ही एक परंपरा के बारे में बताने जा रहे है जो अपने आप में सबसे अनोखी परंपरा है| 
हिमाचल प्रदेश अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण ही नहीं यहाँ के अनोखे रीति-रिवाज के कारण भी जाना जाता है| हिमाचल प्रदेश के जनजातीय इलाके लाहौल-स्पीति की एक ऐसी ही अनोखी परंपरा है जिसमे बहन अपने भाई और भाई अपने भाई के लिए बारात लेकर दुल्हन ब्याह कर लाता है| 
जी हाँ दोस्तों, यह पढ़कर आप एक बार जरूर चौंके होंगे पर यह सच है| यहाँ अपने भाई की शादी के लिए बहन दूल्हा बनकर बारात लेकर वधु पक्ष के घर जाती है और सभी रस्में निभाती है| इतना ही नहीं जिन परिवारों में कोई बहन नहीं होती तो घर में बड़े या छोटे भाई अपने भाई के लिए दूल्हा बनकर बरात लेकर जाता है और दुल्हन को शादी करके ले आता है| 
लाहौल-स्पीति की शादी की यह परंपरा अपने आप में बिलकुल अलग है| लाहौल-स्पीति में जब दूल्हा किसी वजह से अपनी शादी में शामिल नहीं हो पाता है तो यहाँ पर बहनें ही सर पर सेहरा सजाकर, बैंड-बाजे के साथ अपने घर दुल्हन ले आती है| सदियों पुरानी यह परंपरा लाहौल घाटी में आज भी कायम है| घाटी में विवाह के दौरान महिलाओं को दूल्हा बनते देखा जा सकता है| 
कई बार तो दूल्हे का छोटा भाई भी दूल्हा बनकर अपनी भाभी को ब्याहने जाता है| लाहौल की बड़ी शादी, कुजी विवाह और छोटी शादी की परंपरा के साथ ही यह परंपरा आज भी कायम है| 
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

टिप्पणियाँ