विश्व में सबसे विशालकाय बरगद का पेड़ जो है भारत में

विश्व में सबसे विशालकाय बरगद का पेड़ जो है भारत में 
दोस्तों, वैसे तो भारत में बरगद के लाखों पेड़ काट दिए जाने के बाद अभी भी लाखों बरगद के पेड़ बचे है, उनमे से कई हजार पुराने बरगदों में उज्जैन का सिद्धवट, प्रयाग का अक्षयवट, मथुरा-वृन्दावन का वंशीवट, गया का गयावट, पंचवटी-नाशिक का पंचवट पेड़ को प्रमुख माना जाता है| लेकिन इसके अलावा भी भारत में कई विशालकाय वट वृक्ष पाए जाते है| उन्ही में से एक ये पेड़ है जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे है|
'द ग्रेट बनियान ट्री'
इस विशालकाय वृक्ष को पहली बार देखने से समझ में यह आता है कि यह कोई छोटा सा जंगल है जिसमे हजारों एक जैसे वृक्ष उगे हुए है| लेकिन, गौर से देखने पर पता चलता है कि यह तो एक ही वृक्ष है जिसकी जटाएं, जड़ और तने चारों तरफ फ़ैल गए है| 
आपको बतादें कि यह पेड़ भारत का ही नहीं विश्व का सबसे विशालकाय बरगद का पेड़ है| हर साल देश-विदेश से हजारों लोग इस बरगद के पेड़ को देखने के लिए आते है| ये बरगद का पेड़ कोलकाता के आचार्य जगदीश चंद्र बोस बॉटनिकल गार्डन में है| साल १७८७ में जब इस बोटेनिकल गार्डन को स्थापित किया गया, तब इस पेड़ की उम्र १५ से २० साल की थी और अब इसकी उम्र लगभग २५० साल से भी अधिक है| 
दरअसल, बरगद के इस पेड़ की शाखाओं से निकली जटाएं पानी की तलाश में नीचे जमीन की और बढ़ती गयी और बाद में जड़ के रूप में पेड़ को पानी और सहारा देने लगी| इस वजह से यह पेड़ दूर से देखने पर एक जंगल की तरह नज़र आता है| 
वैज्ञानिकों का मानना है कि ये बरगद दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़ है, जो लगभग १८ हजार ९१८ वर्ग मीटर यानी ४.६७ एकड़ में फैला हुआ है| इस पेड़ की जटाओं की संख्या करीब ३,३७२ से भी अधिक है| इसकी सबसे ऊंची शाखा २४ मीटर लम्बी है| इस पेड़ पर करीब ८७ से भी अधिक अलग-अलग पक्षियों की प्रजातियां रहती है| साल १८८४ और १९८७ में आये चक्रवाती तूफानों ने इस बरगद को काफी नुक्सान पहुंचाया था| साल १९२५ में इस विशालकाय बरगद की मुख्य शाखा में फंगस लग जाने के बाद मुख्य शाखा को काटना पड़ा था| फिर भी यह पेड़ बड़ी ही शान से अपनी जगह पर अडिग है| 
इतना ही नहीं इसकी विशालता को देखते हुए 'गिनिस बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड' में इसका नाम दर्ज किया गया है| इस विशाल बरगद को और सम्मान देते हुए सरकार ने साल १९८७ में इसका डाक टिकट भी जारी किया था और यह पेड़ बॉटनिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया का प्रतिक चिन्ह भी है| 
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर करें और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा| 

टिप्पणियाँ