पहाड़ों पर लटका हुआ है १५०० साल पुराना यह मंदिर

पहाड़ों पर लटका हुआ है १५०० साल पुराना यह मंदिर
दोस्तों, मंदिरों के बारे में आपने अब तक कई आर्टिकल पढ़े होंगे, जिसमे उनकी खूबसूरत नक्कासी, खूबसूरत बनावट को लेकर कई बातें बताई गयी होगी| मगर शायद ऐसा नहीं सुना होगा कि कोई मंदिर पहाड़ों पर पिछले १५०० सालों से लटका हुआ है| जी हाँ दोस्तों, यह सच है| चलिए इसके बारे में विस्तार में जानते है|
हैंगिंग मोनेस्ट्री ऑफ़ हेंगशन माउंटेन 
चीन की शांझी में हेंग माउंटेन पर एक ऐसा मंदिर है जो बड़े ही अजीबोगरीब तरीके से पहाड़ों पर लटका हुआ है| ऐसा कहा जाता है की १५०० साल पुराने इस मंदिर को यहाँ इसीलिए बनाया गया था ताकि मंदिर बाढ़ से प्रभावित ना हो और बारिश और तूफ़ान से भी बचा रहे| इस तरह से पहाड़ पर लटके हुए होने की वजह से इस मंदिर को हैंगिंग मोनेस्ट्री के नाम से भी जाना जाता है| 
यह जगह चायनीस आर्किटेक्चर का अध्ययन करने वाले लोगों के लिए प्रमुख जगह है| 
इस मंदिर की जमीन से ऊँचाई करीब ७५ फ़ीट की है| मंदिर का स्ट्रकचर पत्थरों में छेद करके पेड़ के तने का आधार देकर स्तापित करने के कारण यह थोड़ा विचित्र दिखाई पड़ता है|  
मंदिर में करीब ४० अलग-अलग हॉल है जो एक दूसरे से जुड़े हुए है| चीन का यह मंदिर डेटोंग क्षेत्र में स्थित है और टूरिस्टों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है| इस मंदिर में कई प्राचीन स्टेचू भी रखे गए है| 
इस मंदिर की प्रसिद्धि ना सिर्फ पहाड़ पर बने होने की वजह से है, बल्कि धार्मिक कारणों की वजह से भी है| 
इस मंदिर को देखने के लिए सिर्फ एशिया से ही नहीं बल्कि यूरोप से भी पर्यटक आते है| 
आपको बतादें इस मंदिर तक पहुँचने के लिए बने हुए रास्ते लकड़ी और लोहे के बने हुए है| 
इस मंदिर की खास बात यह है कि १५०० साल पहले इसे सिर्फ एक ही इंसान ने बनाया है और तब से लेकर अब तक इस मंदिर पर हजारों बार सुधार कार्य किये गए है| 
साल २०१० में इसे विश्व की सबसे खतरनाक इमारतों में भी शामिल किया गया था| माइंट हेंगशेन नामक इस पर्वत को यहाँ स्थित ५ पवित्र पर्वतों में से एक माना गया है| जिसका सर्वोच्च शिकार ६६१७ फ़ीट ऊँचाई पर है| 

टिप्पणियाँ