कड़कनाथ मुर्गा - अंडे और मीट का रंग भी होता है काला

दोस्तों, हो सकता है चिकन खाने वालों ने इसके पहले इस मुर्गे के बारे में सुना होगा, मगर देखा नहीं होगा| कड़कनाथ, ये मुर्गे की ही एक प्रजाति है| यह मुर्गा बहुत कम मिलता है, लेकिन इसके बारे में दावा किया जाता है कि इसका मीट इंसानो के लिए बेहद फायदेमंद होता है| कहा जाता है कि जो भी इस मुर्गे के मीट को खाता है उसका शरीर लोहे की तरह फौलादी हो जाता है| 
कड़कनाथ-मुर्गा-अंडे-और-मीट-का-रंग-भी-होता-है-काला
आपको बता दें कि कड़कनाथ मुर्गा साधारण मुर्गे से बिलकुल अलग होता है| इस मुर्गे का रंग सफ़ेद नहीं बल्कि काला होता है| सिर्फ ऊपरी रंग ही नहीं बल्कि इस मुर्गे का मीट भी काले रंग का होता है और अगर मुर्गी कड़कनाथ है तो इसका अंडा भी काले रंग का होता है| कुछ लोग इसके रंग की वजह से इसका मीट खाने से परहेज करते है, क्यूंकि साधारण मुर्गे के मीट का रंग सफ़ेद होता है, वहीँ कड़कनाथ का मीट काले रंग का होता है| 
कड़कनाथ-मुर्गा-अंडे-और-मीट-का-रंग-भी-होता-है-काला
कड़कनाथ, पूर्वी मध्यप्रदेश में सबसे अधिक पाया जाता है, वहां पर इसे काली मासी के नाम से भी जाना जाता है| 
कड़कनाथ-मुर्गा-अंडे-और-मीट-का-रंग-भी-होता-है-काला
आपको बता दें कि जहाँ आम मुर्गे में फैट काफी मात्रा में होता है, वहीँ कड़कनाथ में फैट बेहद कम होता है| इसमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होने की वजह से जिम जाने वाले युवा लोग इसे खाना पसंद करते है| कड़कनाथ मुर्गा के मीट की कीमत अंदाजन ५०० से १५०० रुपये प्रति किलो की होती है और अंडों की कीमत भी करीब ५० रुपये तक होती है| 
कड़कनाथ-मुर्गा-अंडे-और-मीट-का-रंग-भी-होता-है-काला
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी 'कड़कनाथ मुर्गा - अंडे और मीट का रंग भी होता है काला' अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

टिप्पणियाँ