March 2, 2021

अभिनेत्री प्रिया राजवंश की अपने ही बंगले में कर दी गयी थी हत्या

वैसे तो हाल ही में बॉलीवुड में ऐसे कई हादसे हुए है जिसने लोगों को चौंका दिया था। बॉलीवुड में ऐसे कई सितारे हुए है, जिनका नाम तो बहुत हुआ, मगर उनकी जिंदगी बेहद मुश्किल भरी होती थी। आज हम आपको ऐसी ही एक अभिनेत्री प्रिया राजवंश के बारे में बताने जा रहे है जिनका नाम तो बहुत हुआ मगर जिंदगी छीन ली गयी यानी उनकी हत्या कर दी गयी।

biography-murder-mystery-of-bollywood-actress-priya-rajvansh

 

Biography

हम बात कर रहे है वीरा सुन्दर सिंह की जिन्हें लोग प्रिया राजवंश के नाम से जानते है। प्रिया राजवंश का जन्म साल १९३७ में शिमला में हुआ था। शिमला में ही प्रिया ने अपनी शुरुवाती पढाई की थी। बचपन से ही कला में रुचि रखने वाली प्रिया ने पढाई के दौरान कई नाटकों में हिस्सा लिया था। 

प्रिया के पिता वन विभाग के कंजर्वेटर रहे थे और उन्हें संयुक्त राष्ट्र संघ की तरफ से ब्रिटेन भेजा गया था। प्रिया राजवंश भी अपने पिता के साथ लंदन पहुंच गयी और फेमस इंस्टिट्यूट ‘रॉयल एकेडमी ऑफ़ ड्रामैटिक आर्ट्स’ में एडमिशन लिया। प्रिया के नाटकों में काम किया करती थी और इसी वजह से उनकी एक खींची हुई तस्वीर को एक दोस्त के घर चेतन आनंद ने देख लिया और उन्हें प्रिया भा गयी। 

ये अभिनेत्री इतनी थी दिलदार, अमिताभ बच्चन के लिए छोड़ गयी थी अपनी महंगी कार

biography-murder-mystery-of-bollywood-actress-priya-rajvansh

निर्माता-निर्देशक रहे चेतन आनंद उस समय अपनी फिल्म ‘हकीकत’ के लिए एक नए चेहरे की तलाश में थे। प्रिया की तस्वीर देखकर उनकी ये तलाश ख़त्म हो गयी थी। चेतन ने तुरंत प्रिया से संपर्क किया और फिल्म साइन कर ली। जिस समय चेतन आनंद की मुलाकात प्रिया राजवंश से हुई थी उस समय वो अपनी पत्नी उमा और बच्चों से अलग हो चुके थे। यही वजह थी कि फिल्म की शूटिंग के दौरान चेतन और प्रिया के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी।

हालाँकि चेतन आनंद ने प्रिया राजवंश से शादी नहीं की थी, मगर वो प्रिया को इतना चाहते थे कि उनकी वजह से अपने भाइयों से भी उनका झगड़ा हो गया था। चेतन आनंद ने अपनी पहली शादी नहीं तोड़ी थी और इसी वजह से उन्होंने प्रिया के लिए अलग से बंगला बनवाया और कई सालों तक उनके साथ रहे। 

biography-murder-mystery-of-bollywood-actress-priya-rajvansh

खुशहाल जिंदगी में मुश्किलें तब बढ़ गयी जब साल १९९७ में जब चेतन आनंद की मृत्यु हो गयी। चेतन आनंद की वसीहत के मुताबिक़ उनकी प्रॉपर्टी का आधे से ज्यादा हिस्सा प्रिया राजवंश के नाम था। इसी कारण चेतन के बेटों का प्रिया राजवंश पर काफी गुस्सा था। इसी के चलते प्रिया के बंगले में काम करने वाली उनकी नौकरानी माला चौधरी और एक कर्मचारी अशोक स्वामी के साथ मिलकर प्रिया की हत्या का षड्यंत्र रचा गया।

२७ मार्च २००० को प्रिया राजवंश अपने बंगले पर मृत पायी गयी। यह खबर आग की तरह फ़ैल गयी कि प्रिया ने चेतन आनंद की मौत से दुखी होकर आत्महत्या कर ली। मगर बाद में पुलिस की छानबीन शुरू की तो पता चला कि प्रिया की हत्या की गयी है और इसमें चेतन के दोनों बेटों और दोनों नौकरों का हाथ है। 

biography-murder-mystery-of-bollywood-actress-priya-rajvansh

मुंबई के एक अदालत ने ३१ जुलाई २००२ को केतन आनंद और विवेक आनंद के साथ उनके सहयोगियों ने माला चौधरी और अशोक स्वामी को उम्रकैद की सजा सुनाई थी। मगर साल २०११ में इस कोर्ट के आदेश के खिलाफ चारों ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की और कोर्ट ने उसे स्वीकार कर लिया। 

 

बता दें कि प्रिया राजवंश ने चेतन आनंद से अपना प्रेम कुछ इस तरह जाहिर किया कि अपने बॉलीवुड के करियर में केवल चेतन आनंद के साथ ही उन्होंने फ़िल्में की और किसी निर्माता-निर्देशक के साथ फ़िल्में नहीं की। हकीकत के बाद साल १९७० में हीर-रांझा, साल १९७३ में हिन्दुस्तान की कसम और हस्ते जख्म, साल १९७७ में साहेब बहादुर, साल १९८१ में कुदरत और साल १९८५ में हाथों की लकीरें में ही उन्होंने काम किया था।

biography-murder-mystery-of-bollywood-actress-priya-rajvansh

दोस्तों, अपने शानदार अभिनय से बॉलीवुड पर अपनी अलग पहचान बनाने वाली इस खूबसूरत अभिनेत्री के लिए एक लाइक तो बनता है। यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो कृपया इसे शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में लिखकर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

दुनिया की कुछ ऐसी अजब गजब रोचक जानकारी जो शायद ही आपको पता होगी | Fact from around the world that you wont believe.

जब शक्ति कपूर ने हद पार की तो मिथुन चक्रवर्ती ने लगा दिया था थप्पड़

जब सनी देओल के मुंह पर जानबूझ कर थूका था अनिल कपूर ने

जब उर्मिला मातोंडकर को थप्पड़ मारा रामगोपाल वर्मा की पत्नी ने

आखिर क्यों अभिनेता महमूद से डरा करते थे किशोर कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *