कैंसर के समय अनुराग बासु की इस बॉलीवुड अभिनेता ने की थी मदद

दोस्तों, वैसे तो ये कहावत बेहद मशहूर है कि जाको राखें साइयाँ, मार सके ना कोय, मगर इसके लिए ऊपरवाला किसी न किसी को फरिश्ता बनाकर आपके पास आपकी मदद के लिए भेजता है। हम आज आपको ऐसे ही एक किस्से के बारे में बताने जा रहे है, जिसमें बॉलीवुड के जाने-माने निर्देशक को भी एक फ़रिश्ते ने मदद की थी।
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
साल २००४ में बॉलीवुड के मशहूर निर्देशक अनुराग बासु जब फिल्म 'तुमसा नहीं देखा' के निर्माण में व्यस्त थे और उसी समय उनकी तबियत ख़राब होने लगी थी। बाद में यह फिल्म महेश भट्ट और मोहित सूरी ने पूरी की थी। 
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
मशहूर फिल्म कलाकार और रेडियो पर 'सुहाना सफर' नामक प्रोग्राम के लिए काम करने वाले अन्नू कपूर ने यह बात रेडियो के जरिये लोगों के सामने बताई थी कि जांच के बाद पता चला कि अनुराग को 'ल्यूकेमिया' नामक 'ब्लड कैंसर' हो गया था। ऐसे में डॉक्टरों ने उन्हें जान बचाने के लिए ६ घंटों के भीतर 'टाटा कैंसर अस्पताल' में भर्ती होने की सलाह दी। जब अनुराग बासु टाटा कैंसर अस्पताल पहुंचे तो अस्पताल ने अनुराग बासु को यह कहकर मना कर दिया कि अस्पताल में एक भी बेड खाली नहीं है। यह समय अनुराग के लिए बेहद मुश्किलों भरा था। 
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
जब इस बात का पता निर्देशक महेश भट्ट को लगा तो महेश भट्ट ने मशहूर अभिनेता सुनील दत्त को इस बारे में बताने के लिए संपर्क करना चाहा, मगर उस समय सुनील दत्त किसी मीटिंग में थे। जिसके चलते महेश भट्ट ने उनके लिए संदेशा छोड़ दिया था।
महेश भट्ट का संदेशा मिलते ही सुनील दत्त ने उन्हें फ़ोन किया। महेश भट्ट ने उन्हें सारी बात बताई। सुनील दत्त ने महेश भट्ट को आश्वासन देते हुए कहा कि कैसे भी करके अगले ३ घंटों के भीतर वो अनुराग बासु के लिए टाटा अस्पताल में एक बेड का बंदोबस्त कर देंगे। 
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
सुनील दत्त ने अपना किया हुआ वादा निभाया और अगले ३ घंटों में ही सुनील दत्त ने अनुराग के लिए बेड का इंतज़ाम कर लिया और ये भी सुनिश्चित किया कि इनका इलाज और देखभाल सही तरीके से हो। 
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
दोस्तों, डॉक्टरों के मुताबिक़ अनुराग बासु के पास केवल २-३ महीनों का वक्त था और कैंसर के इलाज के दौरान अनुराग बासु करीब १७ दिनों तक वेंटीलेटर पर रहे थे। करीब ३ साल चले इस इलाज के दौरान अनुराग बासु ने लाइफ इन ए मेट्रो और गैंगस्टर जैसी फ़िल्में भी लिख डाली और ठीक होने के बाद इन फिल्मों के साथ और भी कई हिट फ़िल्में बनाई।
bollywood-ajab-jankari-cancer-story-of-director-anurag-basu
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी 'कैंसर के समय अनुराग बासु की इस बॉलीवुड अभिनेता ने की थी मदद' अच्छी लगी हो तो कृपया ise लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

टिप्पणियाँ