ये है भारत का सबसे खतरनाक किला, अगर हुई चूक तो जा सकती है जान

दोस्तों, आज हम आपको महाराष्ट्र के माथेरान और पनवेल के बीच स्थित 'प्रभलगढ़ किले' के बारे में बता रहे है, जो कलावंती किले के नाम से मशहूर है, जिसे भारत के सबसे खतरनाक किलों में गिना जाता है| चलिए विस्तार में जानते है इस किले के बारे में|
ajab-jankari-kalvanti-durg-prabhalgad-kila

कलावंती किला (प्रभलगढ़ किला)

२३०० फ़ीट ऊंची कड़ी पहाड़ी पर बने इस किले के बारे में बताया जाता है कि कठिन रास्ता होने के कारण यहाँ बेहद कम लोग आते है और जो आते है वह सूर्यास्त होने से पहले ही लौट भी जाते है| दरअसल, कड़ी चढाई होने के कारण यहाँ लम्बे समय तक नहीं रहा जा सकता है| साथ ही बिजली और पानी जैसी जरुरत की भी यहाँ पर कोई व्यवस्था नहीं है| शाम होते ही मीलों दूर तक यहाँ सन्नाटा फ़ैल जाता है|
ajab-jankari-kalvanti-durg-prabhalgad-kila
इस किले पर चढ़ने के लिए चट्टानों को काटकर सीढ़ियां बनाई गई है| इन सीढ़ियों पर ना तो रस्सियां है और ना ही कोई रेलिंग| बताया जाता है कि चढ़ाई के समय जरा सी भी चूक हुई या पैर फिसला तो आदमी २३०० फ़ीट नीचे खाई में गिरता है| इस किले से गिरने पर अब तक कई मौतें भी हो चुकी है|
ajab-jankari-kalvanti-durg-prabhalgad-kila
आपको बता दें कि पहले इस किले को 'मुरंजन किला' कहा जाता था| मगर छत्रपति शिवाजी महाराज के राज में इसका नाम बदल दिया गया| बताया जाता है कि शिवाजी ने रानी कलावंती के नाम पर इस किले को नाम दिया गया|
ajab-jankari-kalvanti-durg-prabhalgad-kila
कच्चे रास्तों से गुजरते हुए इस पहाड़ पर चढ़ाई करने के बाद इस किले से चंदेरी, माथेरान, करनाल और इर्शल किला भी नज़र आता है| यहाँ तक कि मुंबई शहर का कुछ इलाका भी इस किले से देखा जा सकता है| अक्टूबर से मई तक इस किले पर चढ़ाई नहीं की जा सकती है| बारिश के दिनों यहाँ चढाई बेहद खतरनाक हो जाती है|
ajab-jankari-kalvanti-durg-prabhalgad-kila
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह अजब जानकारी 'ये है भारत का सबसे खतरनाक किला, अगर हुई चूक तो जा सकती है जान' अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

टिप्पणियाँ