खुल गया राज पंडित जवाहरलाल नेहरू को बदनाम करने वाली तस्वीरों का

दोस्तों, आपने सोशल मीडिया पर हमारे देश के पहले प्रधानमंत्री को बेइज्जत करने वाले पोस्ट तो जरूर देखें होंगे। ऐसी दर्जनों तस्वीरें और वीडियो बनाये गए है जो पंडित जवाहरलाल नेहरू को चरित्रहीन बता रही है। इन तस्वीरों में से कुछ तस्वीरें कुछ महीनों से सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है, जिसे लोग चटखारे लेकर मजे से शेयर कर रहे है। आखिर क्या है इन तस्वीरों की सच्चाई? ये आज हम आपको बताने जा रहे है।
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal

इस तस्वीर को दिखाते हुए एक मेसेज लिखा गया है कि 'आजादी की भयंकर लड़ाई में देश के लिए ** बाएं गाल पर गोली खाते हुए चाचा नेहरू'। इस तस्वीर में ये दिखाई दे रहा है कि पीछे से एक लड़की ने चाचा नेहरू के गाल पर हाथ रखा हुआ है और दूसरे गाल पर ये लड़की उन्हें चुम रही है। तस्वीर में एक और आदमी खड़ा है जिसकी पीठ दिखाई दे रही है।
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
इस तस्वीर के अलावा एक और तस्वीर है जिसमें जवाहरलाल नेहरू की पीठ दिखाई दे रही है और एक महिला सामने से उनके गाल को चुम रही है। इस ब्लैक एंड वाइट तस्वीर इन दोनों के अलावा कुछ वर्दी पहने हुए लोग भी दिखाई दे रहे है। इस दोनों तस्वीरों को जिन संदेशों के साथ शेयर किया जा रहा है उससे साफ़ दिखाई देता है कि चाचा नेहरू का मजाक उड़ाया जा रहा है। आजादी की लड़ाई में उनके योगदान का मजाक उड़ाते हुए उन्हें चरित्रहीन बताया जा रहा है।
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
किसी को चूमना हमेशा रोमांटिक नहीं होता, यह केवल प्रेमी-प्रेमिकाओं के करने की चीज नहीं होती। किसी पर अपना स्नेह जताने के लिए भी चूमा जाता है। किसी अपने की सलामती की दुआ मांगते हुए भी उसे चूमा जा सकता है। गाल पर, माथे पर, हाथों पर और आंखों पर। तस्वीर में जो दिखाई दे रहा है वो भी स्नेह को दर्शाता है।
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
सबसे पहली तस्वीर की अगर बात करें तो तस्वीर में दिखाई दे रही वो लड़की कोई अंग्रेज या जवाहरलाल नेहरू की प्रेमिका नहीं, बल्कि उनकी भांजी नयनतारा सहगल है, जो कि जवाहरलाल नेहरू की बहन विजयलक्ष्मी पंडित की बेटी है। दूसरी तस्वीर में जो महिला चाचा नेहरू के साथ दिखाई दे रही है। ये महिला नयनतारा की मां है यानी कि जवाहरलाल नेहरू की बहन विजयलक्ष्मी पंडित है। 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
पहली तस्वीर तब की है जब आजादी के बाद पंडित जवाहरलाल नेहरू देश के प्रधानमंत्री बन गए थे और साल १९५५ में विदेशी दौरे पर ब्रिटेन गए थे। उस समय विजयलक्ष्मी पंडित ब्रिटेन में भारत की हाई कमिश्नर थी। ब्रिटेन पहुंचने पर जवाहरलाल नेहरू को रिसीव करते समय एक बहन ने प्यार जताने के लिए अपने भाई के गाल को चूमा और ऐसे में भांजी ने भी अपना प्यार जताते हुए पीछे से आकर अपने मामा के गाल को चूमा था। 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
दूसरी तस्वीर की अगर बात करें तो ये तस्वीर उस समय की है जब साल १९४९ में विजयलक्ष्मी अमेरिका में भारत की राजदूत थी। जब नेहरू अमेरिका गए तो विजयलक्ष्मी उन्हें रिसीव करने एयरपोर्ट पहुंची और रिसीव करते हुए बहन ने भाई को गले से लगाया और प्यार से गाल पर चुम लिया। 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
अब ना तो विजयलक्ष्मी पंडित रही और ना तो पंडित जवाहरलाल नेहरू रहे, मगर नयनतारा सहगल आज भी जीवित है और ९१ साल की हो चुकी है। ये एक लेखिका रह चुकी है जो अंग्रेजी में लिखती है। जाहिर सी बात है दोस्तों, पंडित जवाहरलाल नेहरू और विजयलक्ष्मी पंडित की आत्माएं अपने चरित्रहनन की शिकायत लेकर नहीं आएंगे मगर, नयनतारा जी को इस घटिया मुहीम में अपनी तस्वीरें देखकर कैसा लगता होगा? 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
ये वही नयनतारा है जिनके पिता को अंग्रेजों ने चार बार जेल भेजा था। आजादी के बाद जब विजयलक्ष्मी को रूस का राजदूत बनाया गया तब नयनतारा नेहरू जी के साथ ही रहा करती थी। उनके पिता रणजीत सीताराम पंडित स्वतंत्रता सैनानी थे और चौथी बार जेल जाने के बाद जब जेल से बाहर आये तो उनकी मृत्यु हो गयी थी। जिसके बाद नेहरू का घर ही नयनतारा का घर हो गया और पिता की मृत्यु के बाद से मामा ही उनके पिता थे। 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
ये वही नयनतारा थी जिन्होंने इंदिरा गांधी द्वारा इमरजेंसी लगाए जाने पर अपनी मां के साथ इंदिरा गांधी का विरोध किया था और खूब आलोचना की थी। ऐसा बताया जाता है कि इंदिरा गांधी, नयनतारा को इटली में भारत का राजदूत बनाकर भेजने वाली थी, मगर अपनी आलोचनाओं से नाराज होकर उन्होंने ये नियुक्ति रद्द कर दी थी।
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
पंडित जवाहरलाल नेहरू ही नहीं बल्कि ना जाने ऐसी कितनी तस्वीरें होगी जिसका मजाक सोशल मीडिया पर बनाया जा रहा होगा। इस न्यूज़ के माध्यम से हम केवल ये बताना चाहते है कि किसी की भी तस्वीर या वीडियो शेयर करने से पहले ये जरूर जान ले कि कहीं ये किसी भाई-बहन या मां-बेटे की तस्वीर तो नहीं है। 
ajab-jankari-truth-behind-the-viral-fake-photo-of-jawaharlal-nehru-and-nayantara-sahgal
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी 'खुल गया राज पंडित जवाहरलाल नेहरू को बदनाम करने वाली तस्वीरों का' अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

टिप्पणियाँ