राजकपूर की होली पार्टी में अमिताभ ने गाया था ये गाना जिसे सदियों तक सुनेंगे लोग

दोस्तों, राजकपूर द्वारा आयोजित की जाने वाली होली की पार्टी बॉलीवुड के सितारों के लिए किसी यादगार मौके से कम नहीं हुआ करता था। होली की इस पार्टी का फ़िल्मी सितारें पूरा साल इंतज़ार किया करते थे। राजकपूर की इस होली पार्टी में आने का न्योता गिने-चुने लोगों को ही मिला करता था, मगर जो भी छोटा-बड़ा कलाकार इस पार्टी में शामिल होता वो बहुत गर्व महसूस किया करता था। 


ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
ऐसे ही एक बार यह न्योता अमिताभ बच्चन को भी मिला, जिसकी वजह से अमिताभ बच्चन के लड़खड़ाते करियर को फिर से संभलने का मौका मिला। अमिताभ बच्चन की फ़िल्मी गाड़ी हिचकोले खा रही थी। उस समय उनकी एक के बाद एक करीब ९ फ़िल्में बॉक्सऑफिस पर असफल रही थी। ऐसे में रमेश सिप्पी की फिल्म शान की असफलता ने उन्हें बुरी तरह निराश कर दिया था।


ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
अमिताभ बच्चन होली पार्टी के बुलावे के बाद होली मनाने आरके स्टूडियों पहुंचे, जहां बॉलीवुड के सारी बड़ी हस्तियां भी मौजूद थी। गुमसुम अमिताभ को देखकर राजकपूर उनके पास आये और बोले कि 'आज कोई धमाल हो जाए, देखों कितने सारे लोग आये है। सब तुम्हारी प्रतिभा देख सकते है। क्या पता बात फिर से बन जाए?'

ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
फिर क्या था, अमिताभ को मौका मिला और पहली बार सबके सामने अमिताभ बच्चन ने 'रंग बरसे' नामक गीत गाया। पिता हरिवंशराय बच्चन द्वारा लिखी इस रचना को अमिताभ ने इतने तन-मन से गाया कि पूरा आरके स्टूडियों झूम उठा। 
ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
इसी होली में मौजूद फ़िल्मकार यश चोपड़ा को यह गीत इतना पसंद आया कि उन्होंने ना सिर्फ अपनी फिल्म सिलसिला के लिए अमिताभ बच्चन को ऑफर दे डाला बल्कि इस गाने को अमिताभ की ही आवाज़ में इस फिल्म में भी रख दिया। 


ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
फिल्म सिलसिला साल १९८१ में प्रदर्शित हुई और 'रंग बरसे' ये गीत इतना बड़ा हिट गाना बन गया कि इसे आज भी होली के मौके पर सुना जाता है। इस गाने के बगैर तो जैसे होली के लोगों को फीकें लगने लगते है। लोकगीतों से प्रेरित इस गाने को हरिवंशराय बच्चन ने एक अलग अंदाज दिया था जिसे अमिताभ बच्चन ने अपनी आवाज़ में हमेशा के लिए यादगार बना दिया। 
ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी 'राजकपूर की होली पार्टी में अमिताभ ने गाया था ये गाना जिसे सदियों तक सुनेंगे लोग' अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।
ajab-jankari-bollywood-ke-kisse-when-amitabh-got-the-second-chance-of-his-carrier

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ