जब जया बच्चन को डॉक्टरों ने अमिताभ से आखिरी बार मिल लेने को कहा

दोस्तों, जैसा कि हम सब ये जानते है कि करीब ३७ साल पहले २६ जुलाई १९८२ के दिन निर्देशक मनमोहन देसाई की फिल्म कुली की शूटिंग करते समय अमिताभ बच्चन को हादसे के चलते बहुत गंभीर चोटें आयी थी। 
bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
बैंगलोर से करीब १६ किलोमीटर दूर फिल्म 'कुली' की शूटिंग चल रही थी। पुनीत इस्सर के साथ एक फाइट सीन के दौरान पुनीत का मुक्का जो सिर्फ छूना चाहिए था वो जोर से लग गया और इसके तुरंत बाद अमिताभ बच्चन को एक टेबल पर से उछल कर दूसरी तरफ गिरना था। मगर वो उछलना मिसटाइम हो गया और उस टेबल का कोना अमिताभ के पेट वाले हिस्से पर लग गया। 
bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
ज्यादा चोटिल होने के कारण अमिताभ इसके बाद शूटिंग छोड़कर होटल चले गए थे। लेकिन कुछ ही घंटों में तकलीफ ज्यादा बढ़ती चली गयी और अमिताभ बच्चन को हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ा। बैंगलोर के सेंट फिलोमेनाज़ हॉस्पिटल में करने के बाद जल्द ही उन्हें मुंबई के ब्रिज कैंडी अस्पताल में लाया गया। 
bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
अमिताभ ने साल २०१५ में इस एक्सीडेंट के बारे में अपने ब्लॉग पर बताया था कि अगले ८ दिनों में उनकी दो सर्जरी हुई थी, मगर उनके स्वास्थ में कोई बेहतरी नहीं आयी थी। तबियत इतनी बिगड़ गयी थी कि डॉक्टरों ने उन्हें करीब-करीब मरा हुआ ही समझ लिया था। 

जब संजय दत्त को मारने के लिए घूम रहे थे ४ शूटर, जाने कैसे बचायी थी संजय ने अपनी जान

bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
अमिताभ बच्चन ने बताया था कि "२ अगस्त १९८२ को ब्रिज कैंडी हॉस्पिटल में मेरे जीवन पर छाए बादल और गहरा गए। मैं जीवन और मृत्यु के बीच झूल रहा था। कुछ ही दिनों के भीतर हुई दूसरी सर्जरी के बाद मैं लम्बे समय तक होश में नहीं आया। जया बच्चन को आईसीयू में ये कहकर भेजा गया कि इससे पहले कि उनकी मौत हो जाए अपने पति से आखिरी बार मिल लो। लेकिन डॉक्टर उड़वाड़िया ने एक आखिरी कोशिश की। उन्होंने एक के बाद एक कई कॉर्टिसन इंजेक्शन लगाए। इसके बाद मानों चमत्कार हो गया, मेरे पैर का अंगूठा हिला। ये चीज सबसे पहले जया ने देखी और चिल्लाई- 'देखों, वो ज़िंदा है'।"
bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
इसके बाद अमिताभ बच्चन होश में तो आये मगर अपने घर वापस जाने के लिए उन्हें और दो महीने का समय लग गया। २४ सितम्बर १९८२ को एम्बैसेडर कार में वो अपने घर पहुंचे। अमिताभ बताते है कि ये पहला मौका था जब उन्होंने अपने पिता डॉक्टर हरिवंश राय बच्चन को रोते हुए देखा था। 

कमल हसन की इस फिल्म की वजह से प्रेमी जोड़ों ने की थी आत्महत्या 

bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
अपने बेटे को मौत के मुंह से वापस लौटता देख एक पिता अपनी आंखों के आंसुओं को रोक ना सके। गाडी से उतारते ही अमिताभ बच्चन अपने रोते हुए पिता से लिपट गए थे।
bollywood-ke-kisse-When-doctors-asked-Jaya-Bachchan-to-meet-Amitabh-for-the-last-time
दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

दुनिया की कुछ ऐसी अजब गजब रोचक जानकारी जो शायद ही आपको पता होगी

Fact from around the world that you wont believe.

क्या सरकार जिम्मेदार थी राज कपूर की मौत के पीछे, जाने कैसे हुई बॉलीवुड के शोमैन की मृत्यु 
ये अभिनेत्री इतनी थी दिलदार, अमिताभ बच्चन के लिए छोड़ गयी थी अपनी महंगी कार 
धर्मेंद्र की वजह से टूटा था बॉबी देओल और नीलम के प्यार का रिश्ता
कमल हसन की इस फिल्म की वजह से प्रेमी जोड़ों ने की थी आत्महत्या 
जब अमिताभ को मारा था इस अभिनेत्री ने थप्पड़

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां