December 7, 2022

क्यों मरते समय Shri Krishna को 3 ऊँगली दिखाई थी दुर्योधन ने

क्यों मरते समय Shri Krishna को 3 ऊँगली दिखाई थी दुर्योधन ने

दुर्योधन ने मरने पहले से अधमरी हालत में Shri Krishna की ओर देखते हुए तीन उंगलियां दिखाकर इशारा किया था| जिसे देखते हुए श्रीकृष्ण ने दुर्योधन से इसका मतलब पूछा|

why-duryodhan-shows-three-fingers-to-krishna-before-die

इस पर दुर्योधन ने जवाब देते हुए कहा कि उसने कुरुक्षेत्र में सिर्फ तीन गलतियां की थी, जिसके कारण वो ये युद्ध हार गया| अगर ये गलतिया ना करता तो जरूर जीत जाता|

दुर्योधन ने अपनी पहली गलती बताते हुए कहा कि उसने स्वयं नारायण को ना चुनते है उनकी नारायणी सेना को चुना| जब कि खुद Shri Krishna ने दुर्योधन को ये विकल्प दिया था|

अगर दुर्योधन ने श्रीकृष्णा को चुना होता तो उसकी जीत सुनिश्चित हो जाती, मगर उसने नारायण को ना चुनते हुए उनकी नारायणी सेना को चुना|

क्यों मरते समय Shri Krishna को 3 ऊँगली दिखाई थी दुर्योधन ने

दुर्योधन की दूसरी गलती ये थी कि वो अपनी माता गांधारी के बार बार कहने के बावजूद बिना कपड़ों के उनके सामने नहीं जा पाया|

माता गांधारी को महादेव की तपस्या के बाद ये वरदान मिला था कि वो जिस किसी को भी अपने नेत्रों की पट्टी हटाकर नग्न अवस्था में देखेगी, उसका शरीर वज्र की तरह हो जायेगा|

युद्ध से पहले गांधारी ने दुर्योधन को नग्न अवस्था में अपने सामने बुलाया था ताकि वो दुर्योधन के शरीर को वज्र की तरह शक्तिशाली बना सके|

मगर जब भगवान Shri Krishna को इस बात का पता चला तो उन्होंने दुर्योधन से कहा कि ऐसे कैसे तुम अपनी माता के सामने नग्न अवस्था में जा सकते हो|

इसके बाद दुर्योधन अपने शरीर पर केले के पत्ते लपेट कर अर्धनग्न अवस्था में माता गांधारी के सामने चले गए| जिसके चलते माता गांधारी की दृष्टि से दुर्योधन के शरीर का निचला भाग वज्र का नहीं हो सका|

आखिरकार युद्ध में भीम ने दुर्योधन के शरीर के उसी हिस्से पर वार करके उसे मारा जिस हिस्से को उसने केले के पत्ते से ढाका हुआ था ओर माता गांधारी की दृष्टि उस जगह पर नहीं पड़ सकी थी|

दुर्योधन अपनी तीसरी गलती बताते हुए कहा कि वो युद्ध में सबसे आखिर में लड़ने गया, अगर वो पहले ही जाता तो कई बातों को समझ पाता और शायद उसके मित्रों और भाइयों की जान बच जाती|

इस पर Shri Krishna ने दुर्योधन को कहा कि तुम्हारा लालच और तुम्हारे अहंकार की वजह से तुम्हे युद्ध में हार का सामना करना पड़ा है|

मरने से पहले इंसान को हर अच्छी और बुरी बातों का और अपनी गलतियों का एहसास होता है| ऐसा ही एहसास कुरुक्षेत्र के युद्ध में अपने आखरी समय में दुर्योधन को हुआ| मरने से पहले श्रीकृष्ण उनके सामने थे और दुर्योधन ने अपनी तीन ऊँगली दिखते हुए उनकी ओर इशारा किया और अपनी गलतियों की व्याख्या किया|

दुनिया की कुछ ऐसी अजब गजब रोचक जानकारी जो शायद ही आपको पता होगी | Fact from around the world that you wont believe.

भारत में यहाँ स्थित है जुड़वा लोगों का गाँव

चाँद बावड़ी – सच में अदभुद है यह बावडी

गजब है, ये पुलिसवाला पहनता है १९ नंबर के जूते

यहाँ स्थित है दुनिया का पहला पांच सितारा अंडर ग्राउंड होटल

Leave a Reply