Null Stern Hotel – अजीब है ये होटल, ना छत है ना दीवार

Null Stern Hotel – अजीब है ये होटल, ना छत है ना दीवार

हमने आज तक ऐसे कई होटल्स देखें है, जो अपनी सजावट और बनावट से लोगों के आकर्षण का केंद्र बन जाते है| लोगों को एक अच्छी सर्विस और सुख सुविधा की इन होटलों में होड़ सी लगी होती है| 3 स्टार, 4 स्टार, 5 स्टार और 7 स्टार होटलों की इस प्रतिस्पर्धा में आज हम आपको Null Stern Hotel के बारे में बता रहे है, जिसके नाम का मतलब ही जीरो स्टार है| चलिए जानते है|
Null Stern Hotel
Null Stern Hotel
Null Stern Hotel

दुनिया के खूबसूरत शहरों में गिने जाने वाले स्विज़रलैंड की डेविड माउंटेन की पहाड़ी की चोटी पर स्थित इस होटल का नाम ‘Null Stern Hotel’ है| दोस्तों, जो तस्वीरों में दिखाई दे रहा है, वो सच है| जी हाँ, इस होटल की ना तो छत है और ना ही कोई दीवार, इस होटल की यही तो अजीब बात है|

Null Stern Hotel
Null Stern Hotel

दीवार और छत के साथ यहाँ कोई रिसेप्शन भी नहीं है और सबसे खास चीज़ जिसके बगैर इंसान रह भी नहीं सकता वो है बाथरूम, ये भी नहीं है|

यह है अक्षरधाम मंदिर जिसका नाम दर्ज है गिनिस बुक में

टाइल्स की बनी फर्श पर स्थित एक पलंग और दो टेबल रखे हुए है जहाँ आप आराम फरमा सकते है| आपकी सेवा में यहाँ एक बटलर रहता है जो पास के बने एक क्वाटर में रहता है| यही आपको खाने पीने की सेवायें देने के लिए यहाँ मौजूद रहता है|

Null Stern Hotel
Null Stern Hotel

यही नहीं ये बंदा एक टेलीविज़न स्क्रीन के पीछे खड़े होकर ख़बरों के चैनल की जगह खुद ले लेता है और आपको दुनिया की खबरे देता है और मौसम का हाल भी बताता है|

Null Stern Hotel
Null Stern Hotel

अगर आपको यहाँ टॉयलेट के लिए जाना है, तो आपको पहाड़ से नीचे की ओर जाना होगा| जहाँ एक पब्लिक टॉयलेट मौजूद है, जिसका इस्तेमाल आप कर सकते है|

Null Stern Hotel
Null Stern Hotel
चलो यार छत नहीं, दीवार नहीं और तो और टॉयलेट भी नहीं है इस होटल में फिर भी यहाँ एक रात रुकने की कीमत 22 हजार 500 रुपये खर्च करने पड़ेंगे ये तो सबसे अजीब बात यह है|

दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर दीजियेगा।

दुनिया की कुछ ऐसी अजब गजब रोचक जानकारी जो शायद ही आपको पता होगी | Fact from around the world that you wont believe.

दुनिया का सबसे खूबसूरत इस गाँव में नहीं है सड़कें

७ अजूबों में शामिल करने लायक है ये जगहें – फिर भी नहीं है शामिल

गूगल में काम करने का लोग देखते है सपना, मरने के बाद भी मिलती है सैलरी

दुनिया का सबसे मीठा फल जो डाइबिटीज वालों के लिए है वरदान

Leave a comment