March 1, 2024

Dilip Kumar – जब सायरा बानो से छुपकर इस लड़की से की थी दूसरी शादी

बॉलीवुड में ट्रेजेडी किंग के नाम से मशहूर Dilip Kumar एक महान और लोकप्रिय अभिनेता है। किसी भी दुःख भरे सीन को अपने अभिनय से लोगों के दिल को छू लेने के कारण ही उन्हें ‘ट्रेजेडी किंग’ का नाम मिला। उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि समय-समय पर उनके निजी जीवन में भी ऐसे दुखभरे पल आएंगे। अपनी पत्नी सायरा बानो से छुपकर दूसरी शादी करना उनके जीवन की बड़ी गलती साबित हुई थी। चलिए जानते है उनके जीवन के कुछ ऐसे समय के बारे में जो दिलीप कुमार भी भूलना चाहते है।

dilip kumar affair

11 दिसंबर 1922 के दिन पकिस्तान के पेशावर में जन्मे मोहम्मद युसूफ खान के पिता लाला गुलाम सरवार फलों के व्यापारी हुआ करते थे। परिवार में उनके और 11 भाई-बहन थे। परिवार में सबसे खूबसूरत होने की वजह से इन्हें घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाता और अगर बाहर जाने की जिद ज्यादा की तो दादी माथे पर एक बड़ा से कला टीका लगाकर भेजा करती थी। 

साल 1930 में इनका पूरा परिवार पेशावर छोड़कर मुंबई में रहने के लिए आ गया। साल 1940 में अपने पिता के साथ किसी बात पर युसूफ इतने नाराज़ हुए कि 18 साल की उम्र में घर छोड़ने का निश्चय कर लिया और पुणे के लिए निकल पड़े।

घुटनों के बल नाचे थे राज कपूर, ऐसे निभाया था दिलीप कुमार की शादी में अपना वादा

पुणे में एक ईरानी केफे के मालिक की सहायता से एक कैंटीन कांट्रेक्टर से युसूफ की मुलाकात हुई और अंग्रेजी भाषा की अच्छी जानकारी होने के कारण कैंटीन का कॉन्ट्रैक्ट लेने में सफल हो गए। आर्मी क्लब में उन्होंने एक सैंडविच स्टाल खोल दिया, जो इनका पहला और खुद का बिज़नेस था। कुछ साल काम करने के बाद युसूफ वापस मुंबई आ गए।
dilip kumar

मुंबई में काम की तलाश में उनकी मुलाकात डॉ मसानी से हुई, जिन्होंने उन्हें अपने साथ ‘बॉम्बे टॉकीज’ में मिलकर काम करने का न्योता दिया। बॉम्बे टॉकीज की मालकिन और अभिनेत्री देविका रानी से उनकी मुलाकात हुई और 1250 रुपयों की वार्षिक पगार पर काम पर रख लिया गया।

उर्दू भाषा का अच्छा ज्ञाता होने की वजह से करीब दो सालों तक युसूफ स्टोरी राइटिंग और स्क्रिप्ट राइटिंग में काम करते रहे और एक दिन देविका रानी ने उन्हें बॉम्बे टॉकीज की फिल्म ‘ज्वार भाटा’ में बतौर अभिनेता लेने का निर्णय ले लिया। फिल्म में लेने के साथ-साथ देविका रानी ने मोहम्मद युसूफ खान ये नाम बदलकर ‘दिलीप कुमार’ रख दिया।

आखिरी दिनों में ठेले पर गया था इस बॉलीवुड Actress Vimi का शव

1944 में आयी ‘ज्वार भाटा’ ये पहली फिल्म तो नहीं चली मगर इसके कुछ समय बाद साल 1947 में रिलीज़ उनकी फिल्म जुगनू ने सफलता के झंडे गाड़ दिए। इस फिल्म के बाद Dilip Kumar ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और एक के बाद एक सफल फिल्मों की लाइन लगा दी। 

dilip kumar affair

कामिनी कौशल और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी 

बॉलीवुड में ‘ट्रेजेडी किंग’ के नाम से पहचान बनाने वाले Dilip Kumar की निजी जिंदगी भी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं रही है। अपने करियर के शुरुवाती दौर में फिल्म शहीद की सह-कलाकार रही कामिनी कौशल से उन्हें प्यार हो गया। दोनों ने शादी करने का फैसला भी कर लिया था, मगर किस्मत ने इनका साथ नहीं दिया। 

dilip kumar affair

कामिनी कौशल के भाई, जो भारतीय सेना में थे, इस रिश्ते के खिलाफ थे। वहीँ दूसरी तरफ कामिनी कौशल ने अपनी बहन को मरते समय ये वादा किया था कि वे उनके मरने के बाद उनके बच्चों का ख्याल रखेंगी। अपने भाई की नाराजगी और बहन से किये गए वादे की वजह से कामिनी कौशल कभी दिलीप कुमार से शादी नहीं कर पायी और ये रिश्ता यहीं पर ख़त्म हो गया। ये दिलीप कुमार की पहली प्रेम कहानी थी जो अधूरी रह गयी। 

dilip kumar affair

मधुबाला और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी

बॉलीवुड की सबसे पसंदीदा अभिनेत्री मधुबाला, दिलीप कुमार के प्यार में पागल थी और दोनों ने सगाई भी कर ली थी। हालांकि, मधुबाला के पिता और Dilip Kumar की कभी एक दूसरे से पटती नहीं थी और यही बात मधुबाला और दिलीप के प्यार के बीच रूकावट भी बनी। 

dilip kumar affair

मधुबाला को दिलीप द्वारा अपने पिता की आज्ञाभंग करना अच्छा नहीं लगा और उन्होंने दिलीप साहब को अपने पिता से माफ़ी मांगने के लिए कह दिया। दिलीप कुमार ने ऐसा करने से मना कर दिया, जिसकी वजह से मधुबाला और दिलीप कुमार के बीच अनबन हो गयी। मधुबाला तब बिखर गयी जब दिलीप कुमार ने किसी और से शादी कर ली और दिलीप साहब तब टूट गए जब मधुबाला ने दिलीप साहब की शादी के कुछ समय बाद ये दुनिया छोड़कर चली गयी।

वैजयंतीमाला और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी

हिंदी सिनेमा में इस जोड़ी ने करीब 6 फिल्मों में काम करके इतिहास रचा था। स्वाभाविक रूप से उस समय इन दोनों के रिश्तों को लेकर काफी चर्चाएं हुई, मगर इन दोनों ने कभी लोगों के सामने इसे कबूल नहीं किया और हमेशा इंकार करते रहे। मना करने के बावजूद भी दोनों के प्यार की चर्चाएं बनी रही और यहां तक कहा गया कि कामिनी कौशल और मधुबाला के बाद ये Dilip Kumar की तीसरी प्रेम गाथा थी। 

dilip kumar affair

सायरा बानो और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी 

Dilip Kumar और सायरा बनो को आज बॉलीवुड में बहुत बड़ा सम्मान दिया जाता है। इन दोनों की जोड़ी को बॉलीवुड में बेमिसाल जोड़ी के रूप में जाना जाता है। सायरा बानो महज 12 साल की उम्र में ही दिलीप कुमार से प्यार कर बैठी थी। एक दिन ऐसा आया जब सायरा बानो को दिलीप कुमार की सह-अभिनेत्री के रूप में पेश किया गया था और दिलीप साहब ने यह कहते हुए सायरा बानो के साथ काम करने से मना कर दिया था कि वो उनके विपरीत कास्ट करने के लिए उम्र में उनसे बहुत छोटी है। 

किसे पता था कि एक दिन इसी 22 साल की सायरा बानो की शादी 44 साल के Dilip Kumar के साथ के साथ होगी। यह शादी समय की कसौटी पर खरी उतरी। सायरा बानो हर साल दिलीप साहब के जन्मदिन पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को बुलाती और इनका जन्मदिन मनाती। हर पल, हर समय दिलीप साहब का ख्याल रखती। 

dilip kumar affair

बहुत कम लोग ये जानते है कि Dilip Kumar और सायरा बानो माता-पिता का दर्जा पाते-पाते रह गए। दिलीप कुमार ने अपनी बायोग्राफी ‘द सब्स्टेंस एंड द शैडो’ में ये बताया है कि जब साल 1972 में पहली बार प्रेग्नेंट हुई थी और 8 महीने की प्रेग्नेंसी में सायरा को ब्लड प्रेशर की शिकायत हुई थी।

इस दौरान पूरी तरह से डेवलप हो चुके इस भ्रूण को बचने के लिए सर्जरी करना असंभव था। इस कारण आखिरकार दम घुटने से बच्चे की मौत पेट में ही हो गयी। दिलीप साहब के मुताबिक इस घटना के बाद सायरा कभी प्रेग्नेंट नहीं हो पायी। बाद में ये पता चल पाया था कि सायरा बानो की कोख में बेटा था जो नहीं रहा। 

आस्मा और दिलीप कुमार की प्रेम कहानी 

दिलीप कुमार की जीवनी ‘द सब्स्टेंस एंड द शैडो’ के मुताबिक सायरा बानो और Dilip Kumar के रिश्ते में उस वक़्त दरार आयी जब दिलीप कुमार की बहनों ने हैदराबाद (आंध्रप्रदेश) में एक क्रिकेट मैच के दौरान उन्हें आस्मा रहमान नामक लड़की को उनके प्रशंसक के रूप में मिलवाया। 

आस्मा और उनके पति का कई मर्तबा दिलीप साहब के साथ अलग-अलग जगहों में आमना-सामना हुआ। इसके बाद अचानक साल 1980 में दिलीप कुमार और आस्मा रहमान की शादी की खबर सुर्ख़ियों में आने लगी। मगर ये शादी ज्यादा समय तक टिक नहीं सकी, जिसके दो कारण बताये जाते है। 

dilip kumar affair

पहला कारण यह सुना गया कि आस्मा और उनके पहले पति ने मिलकर दिलीप कुमार के साथ धोखाधड़ी की थी और पूर्व पति के साथ दिलीप साहब के निजी बातों को प्रेस में लीक कर रही थी। दिलीप कुमार ने उन्हें पकड़ लिया और बाद में आस्मा को तलाक दे दिया। अपनी आत्मकथा में उन्होंने खुलासा किया है कि मैं, उस स्थिति का शिकार हो गया, जो सायरा के साथ मेरी शादी में गहरा संकट पैदा करने के लिए तैयार थी। 

dilip kumar affair

दूसरा कारण जो बेहद प्रसिद्द हुआ वह यह था कि जैसे ही सायरा बानो को आस्मा के साथ दिलीप कुमार की शादी का पता चला, तो सायरा बानो ने दिलीप साहब से तलाक की मांग कर दी थी। जिसके लिए दिलीप साहब तैयार नहीं थे और उन्होंने बाद में आस्मा को तलाक दे दिया। 

‘टेलीग्राफ इंडिया’ में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार आस्मा, जिसने दिलीप कुमार के साथ रहने के लिए अपने पति और बच्चों को छोड़ दिया था, उसने तलाक के बाद आत्महत्या करने की कोशिश की थी। इसके बाद फिर से अपने पुराने पति के पास वापस चली गयी थी। 

dilip kumar affair

ये रहस्य तो आज भी अनसुलझा है मगर आखिर में दिलीप कुमार और सायरा बानो का सच्चा प्यार जीत गया। अभी भी सायरा बानो और दिलीप कुमार बॉलीवुड के सबसे अधिक पसंद करने वाले युगल है और शायद आने वाले कई वर्षों तक रहेंगे। 

दोस्तों, अगर आपको हमारी यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे लाइक और शेयर जरूर कीजियेगा और कमेंट बॉक्स में इसके बारे में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दीजियेगा।

दुनिया की कुछ ऐसी अजब गजब रोचक जानकारी जो शायद ही आपको पता होगी | Fact from around the world that you wont believe.

आखिरी दिनों में ठेले पर गया था इस बॉलीवुड अभिनेत्री विमी का शव

जब शक्ति कपूर ने हद पार की तो मिथुन चक्रवर्ती ने लगा दिया था थप्पड़

जब सनी देओल के मुंह पर जानबूझ कर थूका था अनिल कपूर ने

जब उर्मिला मातोंडकर को थप्पड़ मारा रामगोपाल वर्मा की पत्नी ने

Leave a Reply